पीएम मोदी की खास मानी जाने वाली स्मृति ईरानी से जानें क्यों छीन लिया गया मंत्रालय

जहां एक तरफ कर्नाटक चुनाव के परिणामों पर सबकी नजर टिकी हुई है, वहीं दूसरी तरफ पीएम मोदी अपने कैबिनेट में फेरबदल करते हुए नजर आ रहे है। लेकिन इस फेरबदल को साधारण फेरबदल नहीं कहा जा सकता क्योंकि पीएम मोदी के दीमाग में कब कौन सा प्लान चल रहा होता है ये तो कोई अंदाजा भी नहीं लगा सकता।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल रात अपनी कैबिनेट में बड़ा फेरबदल किया है। जिसके बाद अब स्मृति ईरानी को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से पूरी तरह मुक्त कर दिया गया है। वहीं दूसरी तरफ रेल मंत्री पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार भी सौंप दिया गया है। इतना ही नहीं बताया जा रहा है कि स्मृति ईरानी का कार्यकाल काफी विवादों से घिरा रहा था। उनके स्थान पर राज्यवर्धन राठौड़ के हाथों में सूचना प्रसारण मंत्रालय का जिम्मा दे दिया गया है। इससे पहले राठौड सूचना प्रसारण राज्य मंत्री थे। राष्ट्रपति भवन द्वारा जारी एक विज्ञप्ति द्वारा बताया गया है कि राज्य मंत्री राठौड़ को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार सौंपा गया है।

दूसरी बार ऐसा हुआ है कि स्मृति ईरानी से कोई प्रमुख मंत्रालय वापस छीन लिया गया हो। इसके पहले उनसे मानव संसाधन विकास मंत्रालय वापस लिया गया था और इसकी जगह पर उन्हें कपड़ा मंत्रालय का जिम्मा दे दिया गया था। इसके साथ ही जान लें कि जेटली का किडनी प्रतिरोपण हुआ है और वह स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं।

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You May Also Like

गठबंधन में गांठ: सपा-बसपा क्‍या कांग्रेस का ‘हाथ’ झटकने की कर रहीं तैयारी…

10 सितंबर को कांग्रेस की अगुवाई में पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के ...

Narendra Modi to address rally in Ghaziaba

पीएम मोदी की दहाड़ से आज गूंजेगा गाजियाबाद

यूपी विधानसभा चुनाव 2017 के मद्देनजर बुधवार को गाजियाबाद के कमला नेहरुनगर ग्राउंड मे ...

बीजेपी के इस सहयोगी दल ने दिये संकेत, 2019 में अकेले लड़ेंगे लोकसभा चुनाव…

कैराना के साथ-साथ देश के अलग अलग राज्यों में बीजेपी को उपचुनावों में मिली ...

राहुल बाबा अब ये मत कह देना कि ‘नमो ऐप ईवीएम से जुड़ा हुआ है…’

ईवीएम को लेकर राजनीति पार्टियों के बीच विवाद कोई नई बात नहीं है। लेकिन ...