Press "Enter" to skip to content

बीजेपी को झटका देने वाला है उसका ये सहयोगी दल, विपक्षी एकता की तरफ बढ़ रहे हैं कदम…

Spread the love

बीजेपी और एनडीए को झटका देने के लिए एक बार फिर से सहयोगियों ने उलटी राह अपना ली है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के मुखिया जीतन राम मांझी ने NDA से अलग होते वक्त बड़ा बयान दिया था और कहा था कि जल्दी है RLSP भी एनडीए से अलग हो कर महागठबंधन का हिस्सा होंगे।

आपको बता दें कि विपक्षी एकता और एनडीए दलों में बीजेपी और नरेंद्र मोदी सरकार के प्रति बढ़ी नाराजगी के बाद अब लगातार एनडीए का कुनबा बिखर रहा है। तेलगु देशम पार्टी, हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के एनडीए से बाहर और शिवसेना सहित कई दलों की नाराजगी के बीच की खबर आ रही है राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रमुख और मोदी सरकार में केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा भी जल्द ही पाला बदलने वाले हैं।

दरअसल सोमवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि कुशवाहा की महागठबंधन में आने को लेकर न कहने का मतलब हां समझना चाहिए। उन्होंने दावा किया है कि उपेन्द्र कुशवाहा जल्द ही महागठबंधन में शामिल होंगे।

मांझी ने ये बयान आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद को उनके आवास पर जन्मदिन की बधाई देने के बाद दिया है। आपको बता दें कि राज्य में एनडीए के साथी जनता दल यूनाइटेड, लोक जनशक्ति पार्टी और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी में विवाद छिड़ा हुआ है। साथ ही तीनों का एनडीए के प्रति भी मूड बदला हुआ सा लग रहा है।

बिहार की रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी, बीजेपी के साथ गठबंधन में सत्ताधारी जनता दल यूनाइटेड और RLSP तीनों राज्य में ज्यादा से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने और मुखयमंत्री बनने का सपना देख रहीं हैं। ऐसे में एनडीए के लिए तीनों को साथ रख पाना काफी मुश्किल हो रहा है। RLSP और LJP का रुख देखकर संभावना जताई जा रही है कि यs एनडीए को झटका दे सकते हैं। जहां पर रविवार को आयोजित हुई इफ्तार पार्टी में RLSP प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने मुख्‍यमंत्री पद पर अपना दावा ठोक दिया है। जिसके बाद ही मांझी के बयान में और भी ज्यादा दम नजर आने लगा है।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.