कश्मीर के बाद अब बारी है बिहार की, इस वजह से बीजेपी जेडीयू से हो सकता है अलग…

कश्मीर के बाद अब बारी है बिहार की

जम्मू-कश्मीर में बीजेपी और पीडीपी गठबंधन के टूट जाने के बाद सियासी घमासान खड़ा हो चुका है। साल 2019 के लोकसभा चुनाव में एक साल से भी कम का वक्त रह गया है। तो ऐसा माना जा रहा है कि बीजेपी के रणनीतिकार अमित शाह ने इस कदम को काफी सोच समझ कर लिया है। राजनीतिक विश्लेशको का तो ये तक कहना है कि जम्मू-कश्मीर के बाद अब बीजेपी बिहार में भी ऐसा ही कुछ फैसला लेने वाली है। दरअसल कई उपचुनावों में मिली हार के बाद बीजेपी को अपनी रणनीति दोबारा बनाने के लिए मजबूर होना पड़ गया है। इसी कारण से  यही कारण है कि भाजपा नेतृत्व अपने सहयोगी दलों के साथ मुखर हो उठा है।

बीजेपी और जदयू का गठबंधन खतरे में

राजनीतिक जानकारों की अगर मानें तो बीजेपी आलाकमान जम्मू-कश्मीर जैसा फैसला एक बार फिर से ले सकता है और इस बार ये फैसला बिहार में लिया जा सकता है। आपको बता दें कि बिहार में जेडीयू ने एक साल पहले ही एनडीए में दाबारा से वापसी की थी। शुरुआत में बीजेपी इसका फायदे का सौदा मानकर चल रही थी, लेकिन अब स्थिति कुछ और ही है। इसका नतीजा बिहार में जोकीहाट विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में बीजेपी और जेडीयू गठबंधन को मिली करारी हार है। इस सीट पर जेडीयू के लिए जीतना ज्यादा महत्वपूर्ण था क्योंकि यहां पिछले 20 सालों से पार्टी का कब्जा था।

सीटों को लेकर तनातनी

इसके अलावा साल 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर दोनों दलों के बीच में सीटों के बंटवारे को लेकर भी खींचतान तल रही है, जो कि गठबंधन में रोड़ा बन रही है। ऐसा माना जा रहा है कि दोनों दलों के बीच में सीटों के बटवारे को लेकर तनातनी ज्यादा बढ़ती जा रही है। बीजेपी नेता राजेंद्र सिंह के अनुसार पार्टी उन सभी 22 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने के विचार में है जहां पिछले आम चुनाव में उसे सफलता मिली थी।

  • Show Comments (0)

Your email address will not be published. Required fields are marked *

comment *

  • name *

  • email *

  • website *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

You May Also Like

संन्यासी से मुख्यमंत्री तक ऐसा है योगी आदित्यनाथ का संघर्ष भरा सफर…

उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में पैदा हुए महंत योगी आदित्यनाथ साल 2017 में उत्तर ...

mulayam yadav son prateek say on lamborghini controversy

मुलायम के छोटे बेटे ने किया खुलासा, कैसे खरीदी 5 करोड़ की लैंबोर्गिनी!

5 करोड़ की लैंबोर्गिनी कार को लेकर चल रहे विवाद में मुलायम के बेटे ...

Samajwadi Battle: Who will convert his desire into Victory-Akhilesh Yadav or Mulayam Singh yadav ?

Exclusive: इस रण का सियासी विजेता कौन..?

कहते हैं राजनीति में कोई किसी का नहीं होता हैं चाहे रिश्ता बाप बेटे का ...

Yogendra yadav questions aam aadmi party

आखिरकार अपने ही रचे चक्रव्यूह में फंस गए केजरीवाल

आम आदमी पार्टी दूसरी पार्टियों के चंदे पर हमेशा हमला करती आई हैं लेकिन ...