Press "Enter" to skip to content

कर्नाटक के मिडनाईट नाटक में सुप्रीम कोर्ट ने दिया ये आदेश, बीजेपी के लिए राहत भरी खबर…

कर्नाटक में बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण समारोह पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट ने मना कर दिया है। लेकिन ये स्पष्ट किया गया है कि उनका मुख्यमंत्री के पद पर बने रहना इस मामले के अंतिम फैसले पर निर्भर होगा।

सुप्रीम कोर्च ने रात को 2 बजे स्पेशल कोर्ट लगा कर तीन जजों की बेंच ने इस मामले की सुनवाई की और ये सुनवाई सुबह साढ़े 5 तक चली है। जस्टिस अर्जन कुमार सिकरी, एस ए बोबडे और अशोक भूषण की पीठ ने रात सवा दो बजे से सुबह साढ़े पांच बजे तक चली इस ऐतिहासिक सुनवाई के बाद कहा कि वो राज्यपाल के आदेश पर रोक लगाने के पक्ष में नहीं है, इसलिए येदियुरप्पा के शपथ-ग्रहण समारोह पर रोक नहीं लगाई जाएगी। गौरतलब है कि न्यायालय ने ये साफ किया कि उनका मुख्यमंत्री पद पर बने रहना इस मामले के अंतिम निर्णय पर निर्भर करेगा।

sc new decision

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में अगली सुनवाई के लिए 18 मई की तारीख तय की है। साथ ही कोर्ट ने बीजेपी को भी नोटिस जारी किया है और उन दो पत्रों की कॉपी अदालत के समक्ष जमा कराने के लिए कहा है, जो उसकी तरफ से राज्यपाल को भेजे गये थे। सुप्रीम कोर्ट कर्नाटक के राज्यपाल वजूभाई वाला की तरफ से बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता भेजने को चुनौती देने वाली कांग्रेस-जनता दल (सेक्यूलर) की याचिका की सुनवाई कर रही थी।

आपको बता दें कि कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि वो कानूनी और संवैधानिक अधिकारों का इस्तेमाल करेंगे और जनता की अदालत में जाएंगे। इससे पहले राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था। उन्होंने बीजेपी को 15 दिन में बहुमत साबित करने का समय भी दिया है। बुधवार देर शाम कर्नाटक बीजेपी की तरफ से एक ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी गई। ट्वीट में ये जानकारी दी गई है कि गुरुवार सुबह 9 बजे येदियुरप्पा कर्नाटक के नए सीएम पद की शपथ लेंगे।

More from State PoliticsMore posts in State Politics »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.