Press "Enter" to skip to content

केजरीवाल जी के मोहल्ला क्लीनिक में इंसानों की जगह होता है अब गधे-घोड़ों का इलाज…

Spread the love

दिल्ली की केजरीवाल सरकार की महत्वाकांक्षी योजना मोहल्ला क्लीनिक का हश्र देखना है तो मंत्री गोपाल राय के विधानसभा क्षेत्र कर्दमपुरी में एक बार चले जाइए। यहां पर एक साल पहले क्लीनिक बनकर तैयार हो चुका है, लेकिन इसका उद्घाटन अभी तक नहीं किया गया है, शायद अभी गोपाल राय जी का मुहर्रत नहीं निकला है। इसका नतीजा ये हो रहा है कि जिस क्लीनिक में इंसानों का इलाज होना चाहिए था वहां पर अब गधे और घोड़े आराम कर रहे हैं।

ऐसा बताया जा रहा है कि रात के समय में आसपास के इलाकों से भी गधों को लाकर क्लीनिक में बांध दिया जाता है और क्लीनिक के अंदर ही उनका चारा और बाकी का सामान रखा जाता है। क्लीनिक के बगल में नगर निगम का काम चल रहा है और इसलिए वहां पर कुछ मजदूर भी दिख जाते हैं। उन मजदूरों के मुताबिक जिन लोगों के पास घोड़े-गधों को बांधने के लिए जगह नहीं है, वो तमाम लोग यहीं पर बांध जाते हैं।

माफिया की है नजर

स्थानीय लोगों की अगर मानें तो इस क्लीनिक के उद्घाटन के कोई आसार दिख नहीं रहे हैं क्योंकि मुख्यमंत्री तमाम मंत्रियों के साथ धरने पर बैठे हैं जिस कारण इस जगह पर माफिया की नजरें टिकी हुई है। करीब 25 दिन पहले मोहल्ला क्लीनिक में संदिग्ध हालात में आग लग गई थी और जिससे पोर्टा केबिन का हिस्सा जल गया था। जब मंत्री के क्षेत्र में मोहल्ला क्लीनिक की ये हालत है तो बाकी क्षेत्रों में क्या उम्मीद की जा सकती है।

मंत्री गोपाल राय के इलाके में मोहल्ला क्लीनिक की बेकद्री की ये पहली बानगी नहीं है। बाबरपुर बस टर्मिनल के पास बिना सोचे समझे क्लीनिक बना दिया गया है और जब रामलीला कमेटी के सदस्यों ने विरोध किया तो आधा अधूरा ही उसे तोड़ दिया गया। टूटे हुए इस क्लीनिक में अब चाय की दुकान खुल गई है। कहीं-कहीं तो मोहल्ला क्लीनिक गोदामों में तब्दील हो चुका है और ऐसे में कोई भी मोहल्ला क्लीनिक के असली हालत का अंदाजा लगा सकता है।

तीन विधानसभा क्षेत्रों में एक भी मोहल्ला क्लीनिक नहीं

केजरीवाल सरकार मोहल्ला क्लीनिक को लेकर अपनी पीठ थपथपाने से कभी पीछे नहीं हटती है। तीन साल से अधिक वक्त गुजरने के बाद भी पुरानी दिल्ली के कुछ विधानसभा क्षेत्रों में अब तक एक भी मोहल्ला क्लीनिक बनकर तैयार नहीं हुआ है। इसकी जानकारी सूचना का अधिकार (आरटीआइ) के तहत मिली है।

आपको बता दें कि 2 साल पहले अमेरिका में भी केजरीवाल के मोहल्ला क्लीनिक की तारीफ हो रही थी। वहां के लोगों को आसान स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के लिए केजरीवाल सरकार की मोहल्ला क्लीनिक से सबक लेने के सुझाव दिए जा रहे थे। 2 साल पहले ही अमेरिकी मीडिया हाउस द वाशिंगटन पोस्ट ने दिल्ली में अरविंद केजरीवाल सरकार के द्वारा शुरू की गई मोहल्ला क्लीनिक की तारीफ की गई थी। इसमें अमेरिका को सलाह दी गई थी कि वो भी अपनी स्वास्थ्य व्यवस्था को सुधारने के लिए मोहल्ला क्लीनिक से सबक लें।

More from State PoliticsMore posts in State Politics »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.