Press "Enter" to skip to content

मायावती का एक फोन और पूरी बीजेपी में मच गया हड़कंप…

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित हो गए हैं। इस चुनाव में किसी भी दल को बहुमत नहीं मिल सकी है। बीजेपी को जहां पर 104 सीटें मिली हैं और वहीं कांग्रेस को 78 सीटों से ही संतोष करना पड़ा है। तो इस चुनाव में जेडीएस किंग बनकर उभरी है। हालांकि उसे सिर्फ 37 सीटें ही मिली हैं और एक सीट मायावती की बसपा को गई है, जबकि दो सीटें निर्दलीयों के खाते में गए है। किसी राजनीतिक पार्टी को बहुमत न मिलने पर अकेले दम पर सरकार बना पाना मुश्किल होगा। अब गेंद पूरी तरह से राज्यपाल के पाले में है।

मायावती ने किया था फोन

वहीं सूत्रों के मुताबिक मायावती ने ही सोनिया गांधी और जेडीएस के मुखिया एचडी देवगौड़ा से बात कर दोनों को एक साथ आने का सुझाव दिया था। बसपा सूत्रों की मानें तो मायावती ने पार्टी के राज्यसभा सांसद अशोक सिद्धार्थ को चुनाव के परिणाम आने के बाद कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद से मिलने के लिए कहा था।

इसके बाद गुलाम नबी आजाद ने भी सोनिया गांधी को जेडीएस से हाथ मिलाने के लिए कहा था। इसके बाद मायावती ने जेडीएस के देवगौड़ा से बात की और उन्हें कांग्रेस के साथ गठबंधन के लिए मनाया। इसके बाद सोनिया को भी फोन करके मायावती ने बात कर जेडीएस के साथ के लिए मनाया।

कर्नाटक में त्रिशंकु विधानसभा, राज्यपाल की भूमिका होगी अहम

वहीं आपको बता दें कि कर्नाटक में त्रिशंकु विधानसभा की तस्वीर उभरकर सामने आई है। इस बीच कर्नाटक में बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार वी एस येदिरुप्पा राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर चुके हैं। तो उधर जेडीएस अध्यक्ष कुमारस्वामी ने भी अपनी दावेदारी पेश की है। नतीजों में कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी के पास 104 सीटे, कांग्रेस 77 और जेडीएस ने 38 सीटें ली हैं।

More from State PoliticsMore posts in State Politics »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.