Press "Enter" to skip to content

चुनाव में बीजेपी के सहयोगी शिवसेना देगी कांग्रेस का साथ…

Spread the love

भारतीय जनता पार्टी के दिन आजकल कुछ ज्यादा ही खराब चल रहे है। लगातार हर राज्य से बीजेपी के गठबंधन टूटने की खबरें सामने आती रहती है और इसी वजह से अब बीजेपी हार की तरफ बढ़ती दिख रही है। हाल ही में खबरें आई थी कि शिवसेना ने बीजेपी का साथ छोड़ दिया था और महाराष्ट्र में बीजेपी को इसलिए भी झटका लगने वाला है कि बीजेपी का साथ छोड़ने के बाद अब शिवसेना कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने वाली है।

shivsena-targets-modi-in-saamana-over-raincoat-and-kundli-statement

बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र में होने वाले उपचुनाव में शिवसेना कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव में बीजेपी के खिलाफ खड़ी हो सकती है। आपको बता दें कि शिवसेना ने कांग्रेस के साथ गठबंधन करते हुए कहा है कि शिवसेना इस सीट पर कांग्रेस के प्रत्‍याशी विश्‍वजीत कदम का समर्थन करेंगी और उनके लिए ही प्रचार करेगी, लेकिन इस सीट पर अपना प्रत्‍याशी नहीं उतारेगी। पलूस-कडेगांव की ये सीट नौ मार्च को कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता पतंगराव के निधन के बाद ही खाली हुई थी और अब इसी सीट से चुनाव होना बाकी है। यहा से कांग्रेस के ही विधायक थे।

shivsena-bjp-alliance-ends-in-maharastra-

शिवसेना के जाने माने सांसद संजय राउत पतंगराव गए थे और वहां उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि पतंगराव सहकारिता, समाज और शिक्षा के क्षेत्र के एक जाने माने और बहुत बड़े नेता थे। राउत का कहना है कि पंतगराव की सारी उपलब्धियां देखने के बाद शिवसेना को लगा कि यहां पर चुनाव निर्विरोध हो, लेकिन दुर्भाग्य की बात ये है कि ऐसा नही हो पाया। इसलिए पार्टी ने पतंगराव के बेटे और कांग्रेस प्रत्याशी विश्वजीत को समर्थन देने का फैसला किया है।

संजय राउत ने अपनी बात को जारी रखते हुए और बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा था कि बीजेपी अगर इस सीट से अपना प्रत्याशी नहीं उतारती, तभी यह पतंगराव कदम को सच्ची श्रद्धांजलि होती। अधिक जानकारी के लिए आपको बता दें कि इस सीट पर 28 मई को मतदान होने वाले हैं और बीजेपी ने कांग्रेस प्रत्याशी विश्वजीत कदम के खिलाफ संग्राम सिंह देशमुख को उतारा है।

More from State PoliticsMore posts in State Politics »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.