Press "Enter" to skip to content

टॉपर को योगी सरकार द्वारा दिया गया चेक हुआ बाउंस, जानें उसके पीछे की वजह…

Spread the love

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी बोर्ड मे टॉप किए बच्चो को 1 लाख रुपए का पुरुस्कार देकर सम्मानित किया था। लेकिन सरकार की उस वक्त बहुत ज्यादा किरकिरी हुई जब 10वीं बोर्ड के टॉपर को दिए गए 1 लाख रुपए का चेक बाउंस हो गया था। यही नहीं, टॉपर के पिता को चेक बाउंस होने की वजह से जुर्माना भी भरना पड़ गया था।

आपको बता दें कि इस छात्र का नाम आलोक मिश्रा है और आलोक ने 10वीं में 93.5 प्रतिशत अंक प्राप्त कर यूपी बोर्ड मे टॉप किया था। उत्तर प्रदेश बोर्ड मे टॉप किये हुए बच्चो को 1,1 लाख रुपये देने का योगी सरकार की तरफ से ऐलान किया गया था। 29 मई को सभी टॉपर को लखनऊ में बुलाकर 1,1 लाख का चैक दिया गया था। जिस लिस्ट मैं आलोक मिश्रा भी शामिल थे। 5 जून को जब अलोक मिश्रा के पिता ने चैक जमा किया और बैंक गए तो वहां से 7 जून को उनके पास एक लेटर आया कि उनके द्वारा जमा करवाया चेक बाउंस हो गया है। और इसकी वजह से उन्हें जुर्माना भरना पड़ेगा।

चैक बाउंस होने की वजह

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आलोक मिश्रा से बातचीत मे उन्होंने बताया की हमें बैंक की तरफ से जो लैटर मिला है, उसमें चेक बाउंस होने की वजह सिग्नेचरों का मैच न होना लिखा गया है। अंकित बाराबंकी के डिस्ट्रिक्ट इंस्पेक्टर राज कुमार यादव के चैक मे सिग्नेचर मैच नहीं हो रहे थे और आपको बता दें कि आलोक मिश्रा को अभी फिलहाल दूसरा चैक दे दिया गया है। अधिकारियों से बात चीत मे उन्होंने बताया की ये एकमात्र ऐसा केस था जिसमे चैक बाउंस हुआ था।

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.