rti on delhi waqf board

खुलासा! वक्फ बोर्ड पर आखिर क्यों मेहरबान है “आप” सरकार

खुद को हमेशा से भ्रष्टाचार विरोधी बताने वाली दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर एक आरटीआई के माध्यम से एक बड़ा आरोप लगा है। दरअसल दिल्ली सरकार के अंदर आने वाले दिल्ली वक्फ बोर्ड में अरबों के फंड का खुलासा हुआ है। यह आरटीआई वकील विवेक गर्ग ने डाली थी। जिसके जवाब में ये खुलासा हुआ है।

rti on delhi waqf board

इस आरटीआई के जवाब में दिल्ली वक्फ बोर्ड ने अपना जवाब दिया है। ये खुलासा इस आरटीआई के माध्यम से हुआ है जिसमें कहा गया है कि साल 2017 में वक्फ बोर्ड ने 320 करोड़ रुपये खर्च किए है। हैरान करने वाली बात तो ये है कि जो वक्फ बोर्ड पिछले 10 सालों से अपना खर्चा सालाना 20-25 लाख रुपये करता था उसी बोर्ड का खर्चा एक साल में इतना ज्यादा कैसे हो गया। दिल्ली सरकार के अंदर आने वाले वक्फ बोर्ड का हिसाब केजरीवाल सरकार को जरूर पता होगा। क्या केजरीवाल सरकार वक्फ बोर्ड पर कुछ ज्यादा ही मेहरबान है। जो कि वक्फ बोर्ड का इजाफा सैंकड़ों गुना से भी ज्यादा हो गया है।

 

rti on delhi waqf board

 

जिस वक्फ बोर्ड ने पिछले 10 साल में हर साल इनकम और खर्चा करीब 25 से 30 लाख रखा हुआ था वो अचानक से साल 2017 में तीन सौ बीस करोड़ रुपये कैसे हो गया। अब ऐसे में एक बहुत बड़ा सवाल ये उठता है कि वक्फ बोर्ड के पास इतना पैसा कहां से आया। अचानक से वक्फ बोर्ड ने ऐसा क्या किया कि उसके पास अचानक से अरबों रुपयों का फंड आ गया है। साथ ही दूसरा बड़ा सवाल ये जहन में आता है कि अरबों रुपयों का बोर्ड ने किया क्या? इतना पैसा कैसे और कहां खर्च किया गया। जरूर ये एक गहरी जांंच का मुद्दा और इस पर दिल्ली सरकार पर सवाल उठने भी बहुत लाज्मी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.