सहारनपुर में विरोधियों पर जमकर गरजे पीएम मोदी, कहा- ‘यहां के बोटी-बोटी वाले साहब शहजादे के चहेते’

Election, News

लोकसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दल वोट बैंक अपनी ओर खींचने में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं। सभी पार्टियां अपनी-अपनी जीत का दावा कर रही हैं। सभी नेताओं की नज़र उत्तर प्रदेश पर है और हो भी क्यों ना, देश का सबसे ज्यादा लोकसभा सीटों वाला राज्य जो है। प्रदेश की दो दमदार पार्टी सपा-बसपा ने तो साथ-साथ चलने का फैसला किया है और मोदी लहर की पूरी तरह खत्म करने की ठाक ली है। तो वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस टुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थन करती है। समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी भी सबूत मांगने का काम करती है। उन्होंने कहा कि देश कह रहा है कि मोदी को राष्ट्र की रक्षा करनी चाहिए। लेकिन कांग्रेस कह रही है कि वह आतंक का समर्थन करने वालों से बात करेगी। पीएम मोदी ने कहा कि मोदी से पार पाने के लिए राष्ट्र को दांव पर लगाने में जुट गए हैं। पीएम ने सपा-बसपा गठबंधन पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि सहारनपुर में हिंसा को बुआ-बबुआ भुला सकते हैं। लेकिन यूपी की जनता नहीं भुला सकती है। यूपी में हमारी सरकार आने के बाद पलायन का दौर खत्म हो गया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने अपने ढकोसला पत्र (घोषणापत्र) में कहा है कि वह बेटियों के साथ दुष्कर्म करने वालों को ज़मानत देगी, लेकिन क्या ऐसा होना चाहिए। बोटी-बोटी की बात करने वाले चाहते हैं कि मोदी हटाओ और वंशवाद बढ़ाओ। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि महामिलावटी लोगों के आचरण से पता लगता है कि सत्ता में आने के बाद वो कैसे काम करेंगे। पिछड़ों के हितों की रक्षा कभी नहीं की जाएगी, याद रखिए कांग्रेस हमेशा पिछड़ों की विरोधी रही है।

Leave a Reply