शिवसेना ने मंदिर मुद्दे पर आरएसएस को सुनाई खरी-खोटी, पढ़ें पूरी खबर

Election, News

देश में राम मंदिर को लेकर सियासत होना कोई नई बात नहीं है। हर किसी चुनावी पार्टी के लिए राम मंदिर बड़ा मुद्दा है। जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव का समय नजदीक आ रहा है वैसे-वैसे राम मंदिर का मुद्दा भी गरमाता जा रहा है और इसी को लेकर RSS के कार्यवाह भैयाजी जोशी ने एक बयान दिया था। जोशी ने कहा था कि मंदिर का निर्माण 2025 में होगा। जिसकी शिवसेना ने कड़ी निंदा की है।

राम मंदिर के मुद्दे पर शिवसेना लगातार बीजेपी को घेरती रही है। शिवसेना केंद्र सरकार पर मंदिर निर्माण की डेडलाइन तय करने का भी दबाव बना रही है। शिवसेना ने कहा कि आरएसएस बीजेपी ने बचाव में उतर गई है। राम मंदिर के मुद्दे पर आरएसएस सरकार की ढाल बनकर खड़ी हो गई है। राम मंदिर को लेकर भैया जोशी का बयान एक नया जुमला है। भैया जोशी पहले यह स्पष्ट करें कि 2025 मंदिर निर्माण का काम खत्म करने की तारीख है या शुरुआत करने की। अगर 2025 निर्माणकार्य पूरा होने की तारीख है तो निर्माणकार्य शुरू होने की तारीख बताएं। शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि क्या भैयाजी जोशी यह कहना चाह रहे हैं कि एक बार फिर सरकार चुनकर दे दें, उसके बाद मंदिर बनेगा।

ख़बरों के मुताबिक भैया जोशी ने कहा था कि 1952 में सोमनाथ मंदिर की स्थापना के साथ देश तेज गति से आगे बढ़ा। 2025 में राम जन्मभूमि के ऊपर मंदिर बनने के बाद फिर देश को एक गति प्राप्त होने वाली है। अयोध्या में मंदिर निर्माण के बाद देश अगले 150 सालों के लिए पूंजी प्राप्त करेगा। हालांकि, भैया जोशी ने आगे कहा कि हमारी भी इच्छा है कि मंदिर बने। 2025 तक निर्माण कार्य पूरा होना चाहिए ये हम भी चाहते हैं। यह सरकार को तय करना है। 2025 में शुरू करने की बात नहीं की है। अगर राम मंदिर का निर्माण आज शुरू होगा तो पांच वर्षों में बनेगा।

Leave a Reply