न्यूजीलैंड मस्जिद फायरिंग: हमलावर ने दो दिन पहले ही बता दी थी हमले की पूरी प्लानिंग,पढ़ें पूरी खबर

News

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में शुक्रवार को दो मस्जिदों में जमकर फायरिंग की गई। इस वारदात में अब तक करीब 49 लोगों की जान जा चुकी है और 48 लोग घायल बताए जा रहे हैं। बड़ी बात तो ये है कि इस घटना को 17 मिनट तक फेसबुक पर लाइव दिखाया गया और ये काम खुद हमलावर ने किया। जानकारी के मुताबिक, 28 साल का टन टैरेंट हेलमेट लगाकर मस्जिद में घुसा और ‘चलो पार्टी शुरू करते हैं’ कहते हुए अंधाधुंध फायरिंग करने लगा। जिस समय ये वारदात की गई उस वक्त पूरी मस्जिद नमाज़ियों से भरी हुई थी। बांग्लादेश की क्रिकेट टीम भी वहां मौजूद थी। हमला होते ही वहां अफरा-तफरी मच गई। हमलावर मुस्लिमों से बदला लेना चाहता था।

बता दें कि आरोपी ने अपनी मंशा एक दिन पहले ही सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए 74 पेज के मैनिफेस्टो में जाहिर की थी। जिसका शीर्षक है। ‘द ग्रेट रिप्लेसमेंट’ यानी महान बदलाव। उसने अपने मैनिफेस्टो में लिखा है कि ‘आक्रमणकारियों को दिखाना है कि हमारी भूमि कभी भी उनकी भूमि नहीं होगी।’ हमलावर ने लिखा कि वह एक 28 वर्षीय श्वेत राष्ट्रवादी ऑस्ट्रेलियाई है, जो प्रवासियों से नफरत करता है। वह यूरोप में मुस्लिमों द्वारा किए हमलों का बदला लेना और खौफ पैदा करना चाहता है। साथ ही उसने अप्रवासियों को बाहर निकालकर व्हाइट सुप्रीमेसी कायम करने की बात कही है। हालांकि, उसका दावा है कि उसने यह सब पब्लिसिटी के लिए नहीं किया।

इस घटना के लिए सिर्फ आरोपी ही नहीं बल्कि, सरकार और प्रशासन भी उतरी ही जिम्मेदार है। जब आरोपी ने एक दिन पहले घटना की जानकारी सोशल मीडिया पर दे दी थी। तो सरकार और प्रशासन जरा भी अलर्ट होता तो घटना को पहले ही रोका जा सकता था। अगर समय रहते आरोपी को रोका गया होता तो 49 लोगों की जान बच सकता थी।

Leave a Reply