पर्रिकर को श्रद्धांजलि देते हुए भावुक हुईं स्मृति ईरानी, जानिए…पर्रिकर के बारे में लिखा कुछ ऐसा?

News

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार शाम उनके आवास पर निधन हो गया। सोमवार शाम राजकीय सम्मान के साथ पर्रिकर का अंतिम संस्कार किया गया। पर्रिकर के अंतिम दर्शन के लिए जनसैलाब उमड़ गया। सभी ने पर्रिकर को नम आखों से विदाई दी। केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने भी मनोहर पर्रिकर को श्रद्धांजलि दी। पर्रिकर को आखिरी विदाई देते हुए वह खुद को रोक नहीं पाईं और भावुक हो गईं। जिसके कारण उनकी आंखों से आंसू निकल गए। स्मृति ईरानी ने ट्विटर पर पर्रिकर को भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी।

बता दें कि ईरानी ने ट्विटर पर लिखा था कि एक नेता, एक परामर्शदाता, एक दोस्त- पर्रिकर सर यह सबकुछ थे और वह मेरे लिए परिवार से ज्यादा थे। लेकिन गोवा का हर व्यक्ति इस बात को कह सकता है कि पर्रिकर ऐसे ही शख्स थे। उन्होंने सिखाया कि मुश्किल समय में भी कैसे गरिमा बनाई रखी जाए। स्मृति ने आगे लिखा, ‘मनोहर पर्रिकर अपने पीछे बहुत से प्रशंसक छोड़ गए हैं जो उन्हें अपना आदर्श मानते हैं। उनके प्रियजनों, साथियों और समर्थकों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। ओम शांति।’


पर्रिकर की सादगी का हर कोई कायल था। बतौर मुख्यमंत्री वो बिना किसी की फिक्र किए स्कूटर से भी ऑफिस जाते थे। लोग उन्हें स्कूटर वाला मुख्यमंत्री भी कहते थे। पर्रिकर आधी बांह की शर्ट पहनना पसंद करते थे। उन्हें वीआईपी कल्चर पसंद नहीं था। यही कारण था कि वह लोगों के दिलों में अपनी जगह बनाने वाले नेताओं में से एक थे। पर्रिकर कहते थे कि चाय स्टॉल पर सभी नेताओं को चाय पीनी चाहिए, राज्य की सारी जानकारी यहां मिल जाती हैं। मनोहर पर्रिकर अपना काम भी लाइनों में लगकर ही करवाते थे। उनकी सादगी का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उन्हें हूटर लगी गाड़ियां पसंद नहीं थीं।

Leave a Reply