Press "Enter" to skip to content

भारत के लिए करो या मरो की स्थिती!

Spread the love

मेजबान भारत के सामने फीफा अंडर-17 विश्व कप में एक और बड़ी चुनौती खड़ी हो गई है। उसे अपने आखरी ग्रुप-ए के मैच में मजबूत घाना के सामने है। यह मुकाबला भारतीय टीम के लिए बिलकुल भी आसान नहीं होगा। आपको बता दें कि मैच की शुरुआत हो चुकी है। भारतीय टीम ने शुरुआत में ही घाना पर दबाव बनाते हुए इस शुरुआत को काफी मजेदार बना दिया है। हालांकि इस शुरुआत का फायदा नहीं उठाया जा सका है। जवाब में घाना ने भी काउंटर अटैक करते हुए एक गोल बना दिया था लेकिन रैफरी ने इसे ऑफ साइड करार दें दिया। परिणाम के रूप में गोल को अमान्‍य कर दिया गया। जल्‍द ही घाना ने अपना पहला कॉर्नर हासिल किया, लेकिन भारतीय रक्षापंक्ति ने सजगता दिखाते हुए इस हमले को भी नाकाम कर दिया है।

भारत ने डी के बाहर फ्रीकिक हासिल कर ली है लेकिन संजीव का प्रयास घाना के लिए खतरा नहीं बन पाया है। साथ ही आपको बताते चले कि पहले दो मुकाबलों में मेजबान टीम को हार का सामना करना पड़ चुका है। जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए पहले मैच में अमेरिका ने भारत को 3-0 से मात दें दी थी जबकि कोलंबिया ने मेजबान को बेहद संघर्षपूर्ण मुकाबले में 2-1 से मात दी थी। लगातार दो हार के बाद से उसके अंतिम-16 में पहुंचने के समीकरण घाना के खिलाफ होने वाले मैच पर आ कर ठहर गए हैं। अब उसे घाना को बड़े अंतर से मात देने के अलावा उम्मीद करनी होगी कि अमेरिकी टीम कोलंबिया को बड़े अंतर से और भलीभाती हरा के आगे बढ़ जाए।

अगर दोनों टीमें बराबर अंकों पर ग्रुप दौर की समाप्ति कर देती हैं तो गोल अंतर को ध्यान में रखते हुए फैसला कर लिया जाएगा। इतना ही नहीं कोच लुइस नोर्टन दे माटोस के मार्गदर्शन में खेल रही भारतीय टीम ने अभी तक अपने प्रदर्शन से सभी का दिल जीत लिया है। कोलंबिया के खिलाफ जैक्सन सिंह ने गोल करते हुए अपना नाम इतिहास के पन्नों में भी दर्ज करा लिया है।

आपको बता दें कि घाना तेज फुटबॉल खेलने के लिए बहुत मशहूर है। उसके पास सादिक इब्राहिम और अमिनु मोहम्मद जैसे बेहतरीन खिलाड़ी भी मौजूद हैं। कप्तान एरिक अयाह आक्रमण पंक्ति में भारत के लिए बहुत खतरनाक भी साबित हो सकते हैं। इन लोगों को रोकना भारत के लिए कड़ी चुनौती का काम साबित होगा। इन सभी को रोकने के लिए भारत को बोरिस सिंह, नमित देशपांडे, अनवर अली और संजीव स्टालिन की रक्षापंक्ति को बेहद सचेत रहकर आगे बढ़ना होगा। वहीं गोलकीपर धीरज सिंह ने पिछले मैच में शानदार प्रदर्शन किया था और आम बात है कि इस बार भी वह अपने उस पर्दशन को जारी रखने की कोशिश करेते हुए नजर आएंगे।

आपको बता दें कि जैक्सन और अमरजीत मिडफील्ड में टीम की जिम्मेदारी संभालते हुए नजर आएंगे। इन दोनों के अलावा अभिजीत सरकार और राहुल कनानोली साथ ही कोमल थाटल पर बहुत कुछ निर्भर करेगा। हालांकि यह बात अब तक साफ नहीं हुई है कि माटोस अग्रिमपंक्ति में किसे खिलाएंगे। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि रहीम अली को अनिकेत जाधव पर तरजीह दी जा सकती है। अधिक जानकारी के लिए आपको बता दें कि राउंड ऑफ मुकाबले 16 अक्टूबर से 18 अक्टूबर तक खेले जाएंगे। जिसके बाद क्वार्टर फाइनल के मुकाबले शुरू हो जाएंगे जो  21 अक्टूबर और 22 अक्टूबर को खेले जाएंगे।

More from SportsMore posts in Sports »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.