PM मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले तेज बहादुर के बाद एक और प्रत्याशी ने छोड़ा मैदान, नामांकन लिया वापस

Election

लोकसभा चुनाव की लड़ाई अब अपने अंतिम चरण पर पहुंच चुकी है। लेकिन सबकी निगाहें वाराणसी लोकसभा सीट पर हैं। क्योंकि यहां से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद मैदान में हैं और उन्हें टक्कर देने के लिए बीएसएफ से बर्खास्त किए गए जवान तेज बहादुर ने भी नामांकन दाखिल किया था। लेकिन सही जानकारी ना होने के चलते उनका नामांकन रद्द कर दिया गया।

आपको बता दें कि वाराणसी सीट से प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ बाहुबली नेता अतीक अहमद ने भी नामांकन भरा था। लेकिन अहमद ने अपना नामांकन वापस लेने की घोषणा कर दी है। अतीक ने मीडिया को एक लेटर जारी किया है जिसमें उन्होंने अपना नामांकन वापस लेने की बात कही है। अतीक अहमद ने इसका कारण परोल न मिलना बताया है।

बता दें कि बाहुबली नेता अतीक अहमद फिलहाल जेल में हैं। उन्होंने जेल में रहते हुए प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा की थी। जिसके बाद निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर उन्होंने अपना पर्चा भरा था। लेकिन अब आखिरी चरण के चुनाव से ठीक पहले मैदान छोड़ने का फैसला लिया है। अतीक ने कहा है कि वो किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं करेंगे।

जानकारी के मुताबिक, अतीक अहमद ने कोर्ट से चुनाव प्रचार के लिए परोल मांगी थी। जिसके लिए अतीक ने अर्जी भी दाखिल की थी लेकिन कोर्ट ने अतीक की ये अर्जी खारिज कर दी। जिसके बाद अतीक अहमद ने लेटर लिखकर अपना ये फैसला मीडिया को बताया। इसके अलावा उन्होंने अन्य दलों से भी समर्थन की मांग की थी। लेकिन किसी ने भी उन्हें समर्थन नहीं दिया।

Leave a Reply