पुलवामा हमले को ‘दुर्घटना’ बोले दिग्विजय सिंह तो भड़के वीके सिंह ने पूछा- क्या राजीव गांधी की हत्या भी दुर्घटना थी?

News

जम्मू-कश्मीर के पुलवाम में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के बालाकोट पर वायुसेना की कार्रवाई के सबूत मांगे जाने का मामला अब राजीव गांधी की हत्या तक जा पहुंचा है। पूर्व सेना प्रमुख, भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के विवादित ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए राजीव गांधी की हत्या का मामला उठाया है।

जनरल वीके सिंह (रिटायर्ड) ने ट्वीट कर वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए लिखा, “एक आतंकी हमले को ‘दुर्घटना’ करार देना हमारे देश का राजनीतिक विमर्श नहीं होना चाहिए। दिग्विजय जी क्या आप राजीव गांधी की हत्या को दुर्घटना कहेंगे? इन बेहूदा मजाक से राष्ट्र और हमारे सशस्त्र बलों का मनोबल कमजोर न करें।”

बता दें कि मंगलवार सुबह दिग्विजय सिंह ने बालाकोट में हुई भारतीय वायुसेना के हवाई हमले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवालों की झड़ी लगा दी। सिंह ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए। दिग्विजय ने कहा है कि मोदी जी को बालाकोट हमलों के बाद उठ रहे सवालों का जवाब देना चाहिए। सिंह ने लिखा कि भाजपा सेना की सफलता को अपनी सफलता साबित कर चुनावी मुद्दा बनाने की कोशिश कर रही है। इसके साथ ही दिग्विजय सिंह ने पुलवामा आतंकी हमले को ‘दुर्घटना’ बताया था।

झारखंड की राजधानी रांची में मौजूद वीके सिंह ने मीडिया से बातचीत की। विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह ने बालाकोट में वायुसेना की कार्रवाई के बारे में बताया, “वहां 250 आतंकवादी मारे गए। हमला सिर्फ एक जगह पर हुआ। लक्ष्य को बहुत सावधानी से चुना गया था। यह रिहाइशी इलाके से दूर था ताकि नागरिकों की जान नहीं जाए।”

बालाकोट हमले में 250 आतंकियों के मारे जाने के अमित शाह के बयान का बचाव करते हुए वीके सिंह ने कहा, “हवाई हमले में 250 से ज्यादा आतंकवादी मारे गए। यह आंकड़ा इस पर आधारित था कि उस इमारतों में हमले के समय कितने लोग मौजूद थे। यह एक अनुमान है। वह यह नहीं कह रहे हैं कि इस आंकड़े की पुष्टि हुई है। वह कह रहे हैं कि इतने लोग मारे गए होंगे।”

बता दें कि  दिग्विजय सिंह ने सुबह ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी से बालाकोट हमले में मारे गए आतंकवादियों के बारे में भी पूछा था। जिसके जवाब में वीके सिंह ने यह जानकारी दी। यह सरकार के तरह से पहला आधिकारिक बयान है।

दिग्विजय सिंह ने इसके बाद लिखा, “प्रधान मंत्री जी आपकी सरकार के कुछ मंत्री कहते हैं 300 आतंकवादी मारे गए। भाजपा अध्यक्ष कहते हैं 250 मारे हैं। योगी आदित्यनाथ कहते हैं 400 मारे गए और आपके मंत्री एसएस आहलूवालिया कहते एक भी नहीं मरा। और आप इस विषय में मौन हैं। देश जानना चाहता है कि इसमें झूठा कौन है।”

Leave a Reply