H-1B वीजा पर अमेरिका की सख्ती के बाद बैकफुट पर इंफोसिस ,दस हजार अमोरिकियों को देगी नौकरी

by Amardeep Shrivastava Posted on 2571 views 0 comments
Business H1b Infosys Plans to Hire 10000 American Work- Wikileaks4india Report

भारत की प्रमुख आईटी कंपनी इंफोसिस अगले दो सालों में दस हजार अमेरिकियों को नौकरी देने जा रही है। इसके लिए यहां कंपनी चार टेक्‍नोलॉजी एंड इनोवेशन हब बनाएगी। आपको बता दें कि एच1बी वीजा के कड़े नियम होने के बाद इंफोसिस द्वारा ये फैसला किया गया हैं।  कंपनी ने खुद कहा है कि यह वीजा मसले से उठे विवाद को कम करने की कोशिश है।

 

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले अमेरिका ने भारतीय सॉफ्टवेयर कंपनियों टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) और इंफोसिस पर H-1B वीजा नॉर्म्स का उल्लंघन करने का आरोप लगाया था। अमेरिका ने कहा था कि इन कंपनियों ने H-1B वीजा के लिए लॉटरी सिस्टम में अतिरिक्त टिकट रखकर नॉर्म्स को तोड़ा है।

 

 

इंफोसिस के सीईओ विशाल सिक्का ने बताया कि कंपनी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे सेक्टर में अमेरिकी नागरिकों को नौकरी देने की तैयारी में है। सिक्का ने कहा कि इस कोशिश के तहत कंपनी पहले ही 2 हजार अमेरिकी लोगों को नौकरी दे चुकी है। सिक्का ने कहा, ‘अगर आप अमेरिकी नजरिए से देखें तो बेशक अमेरिकी लोगों के लिए ज्यादा रोजगार और नौकरियों के मौके पैदा करना एक अच्छी बात है।

 

आपको बता दें कि H-1B वीजा का गलत इस्तेमाल ना हो इसके लिए अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप पहले एक दस्तावेज पर हस्ताक्षर कर चुके हैं।

Author

Amardeep Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published.